Trending Topics

आखिर क्यों बच्चे हो रहे है इस खुनी 'ब्लू व्हेल गेम' का शिकार, जानिए क्या है पूरा मामला

  • August 02, 2017
  • OMG!
blue whale suicide game

'ब्लू व्हेल गेम' (Blue Whale Game) जिसके बारे में आज हर तरफ चर्चा है। सोशल मीडिया पर ये पूरी तरह से वायरल हो रहा है। वैसे तो ऐसे कई गेम आते हैं जिन्हे खेलकर हम अपना मनोरंजन करते हैं लेकिन क्या हो जब उसी गेम से आप अपनी जान देने पर उतारू हो जाए ? कभी सोचा है ऐसा ? नहीं ना ! तो आपको बता दे ऐसा ही एक गेम है ये ब्लू व्हेल जिसे खेल-खेल कर टीनएजर्स अपनी जान देने पर लगे हुए हैं। आज इस गेम के बारे में हर युवा जानता है और इसे खेल भी रहे हैं। बिना इस बात की परवाह किए कि इस गेम को खेलने का अंजाम आपकी जान भी हो सकती है। या ये कहें कि युवाओं के दिल में इस गेम को लेकर एक क्रेज़ हो गया है। जिसे खेले बिना और इस तरह के जानलेवा एडवेंचर करे बिना रह नहीं पा रहे हैं।

ये गेम ऐसा गेम है जिसे खेलकर अब तक कई लोगों ने अपनी जान दे दी है। छोटे बच्चे हो या फिर कोई टीनएजर हर कोई इस गेम के लिए अपना क्रेज़ दिखा रहा है। कई सारी जान जाने के बाद अब बच्चों के माता पिता को ये समझ में नहीं आ रहा है कि इस गेम से अपने बच्चों को कैसे बचाया जाए। आज इस गेम को लेकर हर माता पिता परेशान हैं कि उनके बच्चे भी इस गेम को खेलकर कुछ गलत कदम ना उठा ले। आप भी जानते ही होंगे इस गेम के बारे में। नहीं जानते तो आइये बता देते हैं इस गेम के बारे में कुछ खास जानकारी जिससे आप भी अपने बच्चों को इस गेम को खेलने से रोक सके। 

चलिए बताते हैं क्या है ब्लू व्हेल गेम ?

ब्लू व्हेल गेम ऑनलाइन गेम है जिसे आप आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं और खेल सकते हैं। इसका इजात रूस में हुआ है। ये गेम 12 साल की उम्र से लेकर हर बच्चे को आकर्षित कर रहा है। ये गेम रूस में जितना वायरल हो रहा है उतना ही सेंट्रल एशिया और यूरोप जैसी जगह में भी वायरल हो रहा है और इस गेम को लेकर बच्चे काफी उत्साहित है। इस गेम के कई नाम हैं जैसे, 'A Suicide Game', 'A Silent House,' 'A Sea Of Whales' और 'Wake Me Up At 4:20am.'

कुछ इसी तरह अजीब और कुछ डरावने नाम है इस गेम के। जैसे कि हर गेम का कोई ना कोई नियम होता है, वैसे ही इस गेम का भी नियम है। वो नियम ये हैं कि अगर आप इस गेम के दिए हुए चैलेंजेज को पूरा करते हैं तो आपको इसके सबूत देने होंगे। साथ ही आपको ये भी बताते चले कि इस गेम के करीब 50 टास्क है जिनके ऊपर ही इस गेम के कई नाम रखे गए हैं। हर दिन के लिए एक टास्क होता है जो पुरे 50 दिनों तक चलता है। जो इस गेम के आखिरी पढ़ाओ को पूरा कर लेता है वो आत्महत्या कर लेता है।

उन पचास टास्क के कुछ टास्क ये भी है जिनमे आपको करना होता है, 'सुबह के 4:20 पर उठना', 'क्रेन से कूदना', 'किसी भी प्रकार के फ्रेज या कहावत को अपने हाथो पर बनाना', 'अपने हाथ या पैर में सुई को चुभोना', या फिर 'आधी रत को उठा कर हॉरर मूवी देखना'. इन सब टास्क को पूरा कर इसका फोटो या वीडियो एडमिनिस्ट्रेटर को सेंड करना होता है।

कुछ ऐसा होता है मौत का यह खेल ?

ब्लू व्हेल नामक ये गेम रूस में साल 2013 में ही शुरू हो गया था। लेकिन उस समय ये कुछ खास वायरल नहीं हुआ था जितना कि अब हो रहा है। कुछ ही समय में ये गेम इतना वायरल हो चूका है कि इस गेम के चलते तब से लेकर अब तक 130 लोग आत्महत्या कर चुके हैं। रूस में इस गेम को बंद करने के लिए सरकार ने कहा कि इस गेम के कई नाम है जिसके चलते हम एक को बैन करते हैं और दूसरा अपने आप आ जाता है और ये गेम फिर से शुरू हो जाता है। इसी का एक खास ग्रुप भी है जिसका नाम है डेथ ग्रुप और यही नाम इस गेम के लिए बच्चों को सबसे ज्यादा आकर्षित कर रहा है। ये गेम भारत तक पहुंच चूका है और हाल ही में एक 14 वर्षीय नौवीं के छात्र ने मुंबई के अंधेरी इलाके में एक इमारत की पांचवीं मंजिल से छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली।

कुछ ऐसे होते हैं ब्लू व्हेल गेम के टास्क।

कौन है इसे बनाने वाला ?

ब्लू व्हेल गेम के क्रिएटर यानि इसे बनाने वाले का नाम है Philipp Budeikin जिसने इस गेम की रचना की। फिलिप 22 वर्षीय हैं जो रूस के रहने वाले हैं। इस गेम की वजह से कई जानें गई हैं जिसके चलते साइबेरिया की कोर्ट ने फिलिप को तीन साल की सजा सुनाई है। पिछले महीने ही फिलिप को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया गया है। एक इंटरव्यू में फिलिप से ये भी पूछा गया कि क्या वो सच में टीएनजर्स को आत्महत्या करने के लिए उकसा रहे थे? इस पर फिलिप ने जवाब दिया, हाँ, मैं सच में ये कर रहा था। चिंता मत करिये आप भी इसे जल्दी ही समझ जायेंगे और सभी समझ जायेंगे।

You may be also interested

1