Trending Topics

बहुत काम का होता है कान का मैल, जानते हैं आप?

things you never knew about ear wax

कान का मैल, यह एक ऐसा शब्द है जिसे सुनकर घिन आने लगती है. हम सभी में से किसी को भी कान का मेल नहीं पसंद और यह मैल देखकर हम सभी को घिन आती है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है आखिर कान में ये मैल कैसे आ जाता है और इसका क्‍या काम है. वैसे शायद ही आपको इस बारे में मालूम होगा. चलिए आज हम आपको बताते हैं इसके बारे में.

जी दरअसल कान का मैल बहुत ही जरूरी होता है. इसे कान का वैक्‍स कहा जाता है और यह कान के लिए सबसे जरूरी चीज है. जी हाँ और इस मैल को इयर वैक्‍स कहते हैं. आपको बता दें कि इसका मेडिकल शब्‍द सिरूमन है और डॉक्‍टरों की मानें तो यह आपके कान के लिए सबसे जरूरी है.

जी दरअसल कान का मैल या आपके कान में जमा वैक्‍स भूरे, नारंगी, लाल, पीले या फिर स्‍लेडी रंग का होता है. यह कान के अंदर मौजूद एक नली में होता है. आप सभी को बता दें कि कान के अंदर कई ग्रंथियां होती है जो इस मोम का निर्माण करती हैं. कहा जाता है कान का ये मैल स्किन को चोट से बचाता है. इसी के साथ ही किसी भी तरह के बैक्‍टीरिया, फंगस और पानी से भी कान की रक्षा करता है. आप सभी को यह सब सुनकर बड़ा अजीब लग सकता है लेकिन यह सच है. जी दरअसल कान का मैल ही कान को साफ और स्‍वस्‍थ रखने में मदद करता है. जी दरअसल कान में मौजूद नलियों की आउटर लेयर को सूखने से मैल ही रोकता है और मैल की वजह से कान की नलियां अपनी सफाई खुद कर लेती हैं.

आखिर क्यों मिर्च लगती है इतनी तीखी

क्या सच में सूरज का रंग पीला है?

आज है हलषष्ठी, जानिए इस व्रत की कथा

 

Recent Stories

1