Trending Topics

आखिर क्यों आता है हार्ट अटैक?

Heart attack causes

टीवी अभिनेता सिद्धार्थ शुक्ला अब इस दुनिया में नहीं रहे. उनके निधन का कारण दिल का दौरा पड़ना बताया जा रहा है. ऐसे में अब सब यही जानना चाहते हैं कि आखिर क्यों आता है हार्ट अटैक? तो आइए आज हम आपको बताते हैं आखिर क्यों आता है हार्ट अटैक.

जी दरअसल दिल का दौरा (जिसे मायोकार्डियल इंफार्क्शन या एमआई भी कहा जाता है) रक्त के थक्के द्वारा कोरोनरी धमनी के अचानक रुकावट से हृदय की मांसपेशियों को नुकसान पहुंचता है. आप सभी को बता दें कि कोरोनरी धमनियां रक्त वाहिकाएं होती हैं जो हृदय की मांसपेशियों को रक्त और ऑक्सीजन की पहुंचाती करती हैं. एक कोरोनरी धमनी की रुकावट से हृदय की मांसपेशियों को रक्त और ऑक्सीजन नहीं मिल पाती, इससे हृदय की मांसपेशियों को चोट लगती है. ऐसे में हार्ट की मांसपेशियों में चोट लगने से सीने में दर्द और सीने में दबाव महसूस होता है. उस दौरान अगर 20 से 40 मिनट के भीतर हृदय की मांसपेशियों में रक्त प्रवाह ठीक नहीं किया गया, तो हृदय की मांसपेशी की मृत्यु होने लगती है. करीब छह से आठ घंटे तक मांसपेशियां मरती रहती हैं. अब आइए जानते हैं दिल का दौरा क्यों पड़ता है और इसके कारण क्या हैं.

जी दरअसल जैसे-जैसे हम बड़े होते हैं, वैसे-वैसे कोलेस्ट्रॉल शरीर के कई हिस्सों में रक्त वाहिकाओं के अंदर जमा हो जाता है. इनमे कोरोनरी धमनियां भी शामिल हैं, जिससे ब्लड फ्लो में धीरे-धीरे रुकावट आती है. इस क्रम संकुचन को एथेरोस्क्लेरोसिस कहते हैं. वैज्ञानिकों के अनुसार महिलाओं की तुलना में पुरुषों को दिल का दौरा पड़ने की संभावना सबसे अधिक होती है. जी दरअसल महिलाओं को संभवतः महिला सेक्स हार्मोन, एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन के प्रभाव से संरक्षित किया जाता है. आपको बता दें कि यह सुरक्षात्मक प्रभाव कम से कम रजोनिवृत्ति तक रहता है. वहीँ दिल का दोरा पड़ने के जोखिम कारकों में सिगरेट, धूम्रपान, डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, अधिक वजन, हाई कोलेस्ट्रॉल, कम शारीरिक गतिविधि और इनके अलावा तनाव, और चिंता.

क्या सच में सूरज का रंग पीला है?

आज है हलषष्ठी, जानिए इस व्रत की कथा

आखिर क्यों होता है बालों का रंग सफ़ेद

 

1