Trending Topics

सावन: क्यों हैं शिव के हाथ में त्रिशूल, जानिए यहाँ

Sawan Know why Lord Shiva holds Trishul

सावन का महीना बड़ा ख़ास महीना माना जाता है. इस महीने में शिव जी का पूजन किया जाता है. ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं शिव जी के बारे में, जी दरअसल वैसे तो शिव जी से कई रहस्य जुड़े हुए हैं लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं वह क्यों अपने साथ रखते हैं त्रिशूल. आइए जानते हैं इसके पीछे का लॉजिक. पौराणिक कथा ​के अनुसार जब सृष्ट‌ि की रचना हुई तब ब्रह्मनाद से श‌िव की उत्पत्ति हुई और उनके साथ रज, तम, सत भी प्रकट हुए. शिव ने इन तीनों गुणों को अपने त्रिशूल में धारण कर लिया. 

कहते हैं कि इन तीनों के सामंजस्य के बिना सृष्टि का चलना सम्भव नहीं हो सकता है. इसी के साथ कहते हैं सृष्टि का संचालन ठीक से होता रहे इसी के लिए इस त्रिशूल को शिव अपने हाथ में रखते हैं और उनका इन तीनों गुणों पर नियंत्रण रहता है. इसके अलावा आप जानते ही होंगे भगवान श‌िव संहारकर्ता हैं और जब शिव जी नृत्य करते हैं तो उनके हाथ में एक वाद्ययंत्र होता है जिसे डमरू कहा जाता है.

ऐसी मान्यता है कि शिव के हाथ का डमरू द‌िन-रात और समय के संतुलन का प्रतीक है और सृष्ट‌ि के संतुलन के ल‌िए इसे भी भगवान श‌िव ने अपने हाथ में रखा हुआ है. इसी के साथ आपने देखा होगा भगवान शिव जी के गले में हमेशा वासुकी नाग रहता है. जी दरअसल यह नागों का राजा है. वहीं पौराणिक कथाओं के अनुसार सागर मंथन के समय इसी ने रस्सी का काम किया था और यह शिव जी को बहुत प्रिय माना गया है इसी के कारण शिव जी ने इसे अपने गले में धारण किया हुआ है.

यहाँ जानिए सावन सोमवार की कथा

सावन के महीने में क्यों सुहागिन महिलाएं पहनती हैं हरी चूड़ियां

 

Recent Stories

1