Trending Topics

इन्दौरी तड़का : भिया यहाँ वालो का एक ही डायलॉग है "ये हर बार मेरे साथ ही क्यों होता है"

  • September 06, 2017
  • OMG!
indori tadka : bhiyaa yahan valo ka ak hee dialogue hai ye har bar mere sath hee kyun hota hai

हाँ बड़े आजकल इंदौर में सबके मुँह पे यई डायलॉग मिलता है जिसे देखो उसके साथ काण्ड हो जाते है और फिर वो यई बोलता है मेरे साथ ही ऐसा क्यों होता है। बड़े यहाँ पे सबके साथ आए दिन काण्ड और कार्यक्रम होते ही रेते है। और वो बी बड़े वाले हर दिन कोई ना कोई कैसेट उलझ ही जाती है। भिया यहाँ पे लोगो के साथ एक दिन में चार से पांच कार्यक्रम तो निपट ही जाते है जिससे परेशान होक वो दिनभर यई रोना लगाए रेते है की मेरे साथ ही ऐसा क्यों होता है। बड़े कसम से भोत गलत होता है ये इंदौरियों के साथ। बावा इंदौरियों की ज़िंदगी भोत बड़ी लप्पासी कर री है वैसे बी उनके साथ।  हर दिन उनको एक ना एक कैसेट में उलझना ही पड़ता है फिर वो अपनी हो या दोस्त की। काण्ड से बी निपटना पड़ ही जाता है। 

भिया हर जगे साला ज़िंदगी की वाट लगी रेती है। हर दिन कोई ना कोई ऐसा काण्ड हो ही जाता है जो सोच बी नी सकते बेचारे इंदौर वाले। कबि ना चाहते हुए बी छोरी छोड़ के भग्ग जाती है तो कबि छोरा किसी और छोरी के साथ घूमते हुए मिल जाता है। कबि ना छाते हुए बी ट्रेफिक पुलिस पकड़ लेती है तो कबि पापा रात में मोबाइल चलतए हुए देख लेते है। भिया ऐसे ऐसे गलत काण्ड हो ही जाते है ना चाहते हुए बी हम इंदौरियों की बैंड बज हे जाती है और फिर हमारे मुँह से एक ही बात निकलती है ये हर बार मेरे साथ ही क्यों होता है।   

इंदौरी तड़का : बड़े जब से बप्पा आए है बारिश जाने का नाम ही नी ले री है

इंदौरी तड़का : भिया हर गली में आज बकरा कटेगा

इंदौरी तड़का : भिया भोत भेंकर लगी पड़ी है इंदौर वालों की 

इंदौरी तड़का : बड़े इंदौर के लोगो की ज़िंदगी में दिक्कत नी बल्कि दिक्कत में ज़िंदगी है

 

You may be also interested

1