Trending Topics

इस वजह से स्कूल बस का रंग होता है पीला

Why school buses are yellow in colour

दुनियाभर में स्कूल की कई बस हैं लेकिन सभी का रंग पीला होता है. ऐसे में बात करें सबसे पहले की तो सबसे पहले स्कूल बस का उपयोग उत्तरी अमेरिका में 19वीं सदी में हुआ था और उस समय मोटर गाड़ियां नहीं होती थीं इस कारण से स्कूल से दूर रह रहे छात्रों को लाने और ले जाने हेतु घोड़ा गाड़ी का इस्तेमाल होता था. उसके बाद 20वीं सदी की शुरुआत में स्कूल की गाड़ियों के रूप में घोड़ा गाड़ी की जगह मोटर गाड़ियों का इस्तेमाल होने लगा था, जो कि लकड़ी और धातु की होती थीं और उनपर नारंगी या पीला रंग चढ़ता था, ताकि वे दूसरी मोटर गाड़ियों से अलग पहचान बना सके. 

इसी के साथ ऐसा भी कहा जाता है कि स्कूल बसों को आधिकारिक रूप से पीले रंग से रंगने की शुरुआत 1939 में उत्तरी अमेरिका में ही हुई थी और फिर भारत, अमेरिका और कना़डा सहित दुनिया के कई देशों में भी स्कूल की बसें पीले रंग की ही हो गई.

वहीं आज के समय में पीला रंग स्कूल बस की ख़ास पहचान बन चुका है जो पहले नीला हुआ करता था. जी हाँ, वहीं अब सुप्रीम कोर्ट द्वारा भी स्कूली बसों को लेकर कई दिशा-निर्देश जारी किए जा चुके हैं, जिसके अनुसार निजी स्कूल बसों का रंग भी पीला ही होना चाहिए और इसके अलावा स्कूल बस के आगे और पीछे 'School Bus' लिखा होना अनिवार्य है और अगर स्कूल बस किराये की है तो उस पर भी 'स्कूल बस ड्यूटी' लिखा होना जरूरी है. ऐसा भी कहा जाता है कि पीला रंग भड़कीला होता है और यह दूर से दिख जाता है इस कारण भी स्कूल बस का रंग पीला होता है.

हवा में लटका है यह मंदिर, जानिए रहस्य

खुद शैतान ने लिखवाई थी दुनिया की सबसे खतरनाक शैतानी किताब

इस वजह से काला कोट पहनते हैं वकील

 

Recent Stories

1