Trending Topics

चैत्र नवरात्रि के पहले दिन जानिए कैसे हुई थी माँ शैलपुत्री की उत्पत्ति

ma shailputri KATHA IN HINDI

चैत्र नवरात्रि का पर्व आज से आरम्भ हो गया है। ऐसे में आज पहला दिन है जो माँ शैलपुत्री को समर्पित है। अब आज पहले दिन हम आपको बताने जा रहे हैं माँ शैलपुत्री की कथा। जानिए कैसे हुई थी उनकी उत्पत्ति.?

एक बार प्रजापति दक्ष (सती के पिता) ने यज्ञ किया और सभी देवताओं को आमंत्रित किया। दक्ष ने भगवान शिव और सती को निमंत्रण नहीं भेजा। ऐसे में सती ने यज्ञ में जाने की बात कही तो भगवान शिव उन्हें समझाया कि बिना निमंत्रण जाना ठीक नहीं लेकिन जब वे नहीं मानीं तो शिव ने उन्हें इजाजत दे दी।

जब सती पिता के यहां पहुंची तो उन्हें बिन बुलाए मेहमान वाला व्यवहार ही झेलना पड़ा। उनकी माता के अतिरिक्त किसी ने उनसे प्यार से बात नहीं की। उनकी बहनें उनका उपहास उड़ाती रहीं। इस तरह का कठोर व्यवहार और अपने पति का अपमान सुनकर वे क्रुद्ध हो गयीं। क्षोभ, ग्लानि और क्रोध में उन्होंने खुद को यज्ञ अग्नि में भस्म कर लिया। यह समाचार सुन भगवान शिव ने अपने गुणों को भेजकर दक्ष का यज्ञ पूरी तरह से विध्वंस करा दिया। अगले जन्म में सती ने हिमालय की पुत्री के रूप में जन्म लिया। इसलिए इन्हें शैलपुत्री कहा जाता है।

सोते समय अपनी एक आँख खुली रखते हैं ये जानवर, जानिए क्यों?

आखिर क्यों कॉपी में होती है रेड मार्जिन, चूहे हैं वजह

आखिर क्यों साफ़-सुथरी जगह पर बैठती हैं मक्खियां

 

1