Trending Topics

घटती जा रही है Newzealand के नोटों पर छपने वाले इन पक्षियों की संख्या

Fears for world's rarest penguin as population plummets

कई बार क्लाइमेट के कारण पशु पक्षियों की जान खतरे में पड़ जाती है. ऐसे में जो पशु पक्षी कम ही होते हैं उनकी प्रजाति लुप्त हो जाती है.ये कारन मौसम के बदलाव का भी हो सकता है. अगर बर्फ में रहने वाले पक्षी को ऐसा मौसम ना मिले तो कम समय में ही ये मर जायेंगे और इनकी प्रजाति खत्म हो जाती है. आज हम आपको ऐसे ही पक्षी की बात बताने जा रहे हैं जिसका कारण क्लाइमेट नहीं बल्कि इंसान है. जी हाँ, सही सुन रहे हैं आप आइये हम आपको बता देते हैं इसके बारे में. 

दरअसल, ये हैं पिली आँखों वाले पेंगुइन जिन्हे Sea Bird भी कहा जाता है और साथ ही 'होहो' के नाम से भी जाना जाता है. ये पेंगुइन बहुत खास हैं, इतने खास की इनकी तस्वीर न्यूज़ीलैंड की करेंसी पर छपती है. अब जब नोटों पर इनकी तस्वीर छपती है तो आप समझ ही सकते हैं की ये कितने खास होंगे. लेकिन इनकी जान अब इंसानों के कारण ही खतरे में पड़ी है.

जी हाँ,  संरक्षणवादियों को इस बात की चिंता है की यहाँ आने वाले लोग जो मछली पकड़ते हैं, वो इनका शिकार कर रहे हैं जिसके कारण इनकी संख्या धीरे-धीरे कम होती जा रही है. पिछले 30 वर्षों का रिकॉर्ड उठाकर देखें इन पिली आँखों वाले पेंगुइन की संख्या तेज़ी से घट रही है.

शोधकर्ताओं ने दक्षिण न्यूजीलैंड के द्वीप 'जबुआ हो' और 'कॉडफिश' का सर्वेक्षण किया तो उसमे ऐसे ही भयानक रिजल्ट सामने आये हैं. ये जानकर आप भी हैरान हो जायेंगे की साल 2000 में इस द्वीप पर इनकी संख्या 7,000 के करीब थी जो अब 1600 से 1800 तक पहुंच गई है.

इनमे एक खास बात ये भी होती है की, ये आने वाले समुद्री तूफान को भाप लेते हैं और उनका संकेत भी देते हैं. इस दौरान वो बहुत तेज़ और ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगते हैं.

बहुत फायदेमंद होते है दवाई के बीच में ये खाली स्पेसेस

खाने की खोज में सुबह शाम बाहर आता है Octopus, जानिए इसके बारे में

 

Recent Stories

1