Trending Topics

आखिर क्यों बस के आखिरी हिस्से में नहीं लगाते पहिया

do you know why buses have not tyre in last

आप सभी ने अक्सर बस में सफर किया होगा और बस को अच्छे से देखा भी होगा लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि बस का आखिरी पहिया अंत में क्यों नहीं लगाया जाता...? जी दरअसल इसके पीछे एक कारण है और वह कारण आज हम आपको बताने जा रहे हैं.

जी दरअसल एक ट्रक या बस का निर्माण इस वजह से करते हैं ताकि वह माल अथवा यात्रियों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक सुरक्षा पूर्वक ट्रांसपोर्ट कर सके। ऐसे में बस के चेसिस पर इंजन, यात्रियों एवं अन्य उपकरणों का भार होता है इसके साथ ही यह ध्यान रखना पड़ता है कि ड्राइवर के लिए इसे कंट्रोल करना, ड्राइव करना और टर्न करना आसान होना चाहिए। ऐसे में किसी भी वाहन के पीछे वाले पहियों के बीच की दूरी को व्हीलबेस कहा जाता है।

आप सभी को बता दें कि व्हीलबेस जितना ज्यादा होता है व्हीकल का टर्निंग रेडियस भी उतना ही ज्यादा होता है। इसका मतलब है कि जब आप गाड़ी को मोड़ेंगे तो वह उतनी ही ज्यादा जगह का उपयोग करेगी। यही वजह है कि लंबे वाहनों में पीछे वाला पहिया बिल्कुल आखिरी में नहीं लगाए जाते हैं। एक अन्य कारण को माने तो अगर पहिए को सबसे पीछे लगा देंगे तो व्हीकल (बस या ट्रक) के बीच वाले हिस्से पर लोड ज्यादा आ जाएगा और चेसिस को नुकसान होगा। इसी वजह से वजन को पूरे चेसिस बेस पर बराबर विभाजित करने के लिए पहिया बिल्कुल लास्ट में लगाने के बजाय 1/4 पर लगाना अच्छा साबित होता है. SOURCE:bhopalsamachar

106 यात्रियों को लेकर चली थी ये भूतिया ट्रेन, आज तक नहीं लौटी

66 हजार रुपए का है ये फोल्डिंग चेयर बैग, क्या है इसकी खासियत?

यहाँ मनपसंद लड़की से शादी के लिए लाना होता है व्हेल मछली का दांत

 

1