Trending Topics

गणेश जी की इतनी क्यूट तस्वीरें देखकर देखते रह जाएंगे आप

ganesh chaturthi 2019 ganesh photos lord ganesh amazing and cute photos

आप सभी को बता दें इन दिनों गणेश चतुर्थी के दिन चल रहे हैं और सभी जगह गणपति महोत्सव की धूम है. ऐसे में जिस दिन से इसकी शुरुआत हुई है पूरी देश में धूम धाम हो रही है. ऐसे में इन दिनों अलग अलग जगहों पर बप्पा विराज रहे हैं और इस मौके पर आज हम आपके लिए लेकर आए हैं गणेश जी की वह तस्वीरें जो आपके दिल को छू जाएंगी. आपको बता दें कि गणेश भगवान को सबसे पहले पूजा जाता है और भगवान की पूजा सर्वप्रथम की जाती है. ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं आखिर क्यों भगवान गणेश को दूर्वा सबसे अधिक पसंद हैं और इसी के साथ आप देखिए उनकी बहुत ही प्यारी तस्वीरें.

कथा

गणेश पुराण के अनुसार एक बार श्री नारद मुनि गणपति जी से मिथिला नरेश जनक जी महाराज के अहंकार की कथा कहते हैं. वह बताते हैं कि जनक जी स्‍वयं को तीन लोकों का स्‍वामी और रक्षक समझते हैं. यही नहीं वह स्‍वयं का गुणगान भी इसी रूप में करते हैं. तब गणपति जी महाराज मिथिला नरेश का अहंकार चूर करने पहुंचे.

उन्‍होंने एक ब्राह्मण का वेश धारण किया और जनक जी महाराज के द्वार पर पहुंचकर कहा कि वह उनकी महिमा सुनकर आए हैं और बहुत दिनों से भूखें हैं. इसके बाद श्री जनक जी महाराज ने अपने सेवकों को ब्राह्मण देवता को भरपेट भोजन कराने का आदेश दिया. गणेश जी ने पूरे नगर का संपूर्ण अन्‍न खा लिया लेकिन उनकी क्षुधा शांत नहीं हुई. तब महाराज जनक जी का अहंकार चूर-चूर हो जाता है. इसके बाद ब्राह्मण वेशधारी श्री गणेश जी मिथिला के ही एक गरीब ब्राह्मण त्रिशिरस के द्वार पर पहुंचते हैं. जहां वह कहते हैं कि वह अत्‍यंत भूखें हैं उन्‍हें भोजन कराएं ताकि उनकी क्षुधा शांत हो जाए. 

इसपर ब्राह्मण त्रिशिरस की पत्‍नी विरोचना ने श्री गणेश जी महाराज को दूर्वांकुर अर्पित किया. उसे खाते ही विघ्‍नहर्ता की क्षुधा शांत हो गई और वह तृप्‍त हो गए. इसके बाद अपने रूप में आकर उन्‍होंने दोनों को मुक्ति का आशीर्वाद दिया. यही वजह है कि तब से श्री गणेश जी महाराज को दूर्वांकुर जरूर चढ़ाया जाता है. कहा जाता है कि इससे पार्वती पुत्र प्रसन्‍न होकर भक्‍त पर सदैव ही अपनी कृपा बनाए रखते हैं.

Popular Stories

1