Trending Topics

कुत्तों को खाना खिलाने के लिए महिला ने किया यह नेक काम

Lockdown Chennai woman eats once a day for dogs

आप जानते ही होंगे लॉकडाउन में लोगों ने बहुत से समझौते किए। जी दरअसल लॉकडाउन में जीवन कैसे गुजरा है यह हम सभी जानते हैं। किसी ने कुछ खोया है तो किसी ने कुछ। ऐसे में आप यह तो जानते ही होंगे लॉकडाउन में लोग भूखे रहे, नौकरियां गई, कई-कई किलोमीटर पैदल चले ताकि घर पहुंच जाए। अब इसी बीच एक दिल को छू लेने वाली कहानी आई है। जी दरअसल यह कहानी है चेन्नई की रहने वाली मीना की। लॉकडाउन में उन्होंने खुद एक टाइम खाना खाया और ऐसा उन्होंने इसलिए किया ताकि वो अपने 13 कुत्तों को खाना खिला पाएं। 

मिली जानकारी के मुताबिक मीना के डॉगी भूखे ना रहें इसलिए उन्होंने खुद एक टाइम खाना खाया। एक वेबसाइट के अनुसार वो लोगों के घरों में खाना बनाकर अपना जीवन चलाती हैं। जी दरअसल कुत्तों से उनको काफी लगाव है और उन्हें वो अपने परिवार की तरह ही रखती हैं। मिली जानकारी के मुताबिक मीना जी ने अपना पूरा जीवन इन कुत्तों का ध्यान रखने में ही बिताया है। वह कुत्तों से बहुत प्यार करती हैं और कुत्तों के लिए खाना बनती हैं। लॉकडाउन की वजह से पहले ही उनका काम ठप्प हो गया लेकिन फिर भी उन्होंने अपने कुत्तों का ध्यान रखा। जी दरअसल उन्होंने फैसला किया कि वह खुद दिन में एक बार खाएगी, लेकिन कुत्तों को भूखा नहीं रखेंगी। इस बारे में बात करते हुए मीना ने बताया कि 'उनके कुछ एक मालिकों ने लॉकडाउन के दौर में उन्हें एडवांस सैलरी भी दी।' उन्होंने कहा, ‘वो जानते थे कि मेरी फैमिली में 13 कुत्ते हैं और वो मेरे काफी करीब हैं।’

इसके अलावा उन्होंने कहा उनकी ये आदत है कि वो गली के ढेर सारे कुत्तों को खाना खिलाती हैं। गली के कुत्ते उनके घर आते हैं पर उनके 13 कुत्ते उन्हें आने नहीं देते। वो जल्द ही इसका हल भी निकालना चाहती हैं। सच में मीना जी जैसे लोगों के कारण इंसानियत अभी तक जिंदा है। जो खुद दुख सह रहे हैं, लेकिन बेजुबानों को कोई कमी नहीं होने दे रहे।

यहां फुलकारी मास्क ने भरे विधवा महिलाओं की ज़िंदगी में रंग

लॉकडाउन में खाली बैठा था युवक तो बना डाली लकड़ी की साइकिल

इस किले पर तोप से दुश्मनों पर दागे गए थे चांदी के गोले

 

Recent Stories

1