Trending Topics

यहाँ पैसे और धर्म से नहीं किसी को कोई मतलब

Auroville A Place in where there is no religion no money

दुनियाभर में जितने भी शहर हैं सभी जगह रहने के लिए पैसे खर्च करने पड़ते हैं। टैक्स के रूप में हमे पैसे चुकाने पड़ते हैं, लेकिन आज हम जिस जगह के बारे में आपको बताने जा रहे हैं वहां रहने के लिए पैसे नहीं लगते। जी हाँ, पुडुचेरी के विल्लुपुरम ज़िले के Auroville टाउनशिप एक ऐसी जगह है जहाँ न सरकार की दखलअंदाजी चलती है और न ही पैसों से कोई लेन-देन होता है। यह भारत का ही टाउनशिप है और बहुत ही अनोखा टाउनशिप है। यहाँ हर देश के नागरिक बिना किसी रोक टोक के रह सकते हैं।  केवल यही नहीं बल्कि सबसे बड़ी बात तो यह है कि इस टाउनशिप में पैसे मायने ही नहीं रखते। आपको बता दें कि इस टाउनशिप को मीरा अलफ़ासा(Mirra Alfassa) ने 28 फ़रवरी 1968 में बसाया था। कहा जाता है इसे श्री अरविंदो सोसाइटी प्रोजेक्ट के तहत बनाया गया था। 

जी दरअसल मीरा का यह मानना था कि ये शहर भारत में बदलाव की प्रेरणा बनेगा। इसको बनाने के पीछे ये सोच थी कि यहां लोग किसी भी देश से आकर धर्म और जाति को भुला कर आराम से रह सकें। अब यहाँ पर ऐसा ही नजारा है। यहां महिला और पुरुषों को बराबर समझा जाता है। उनमें कोई भेदभाव नहीं किया जाता। सबसे बड़ी और अनोखी बात यह है कि यहां कोई मंदिर नहीं है। यहां बस लोग योग करने के लिए बड़ी सी बिल्डिंग में एकत्र होते हैं। Auroville के सभी झगड़ों का निपटारा यहां के बड़े-बुज़ुर्ग ही करते हैं।

सरदर्द के लिए पहले लोग बांधते थे बकरी के बालों का हेयरबैंड, जानिए एक और अनोखा तरीका

हर दिन बढ़ रहा था लड़की के पेट का आकार, अस्पताल पहुंची तो खुला बड़ा राज

अकेलेपन का शिकार लोगों को मिला Gloves Human Touch

 

You may be also interested

1