Trending Topics

इस मंदिर में चिट्ठियां लिखकर अपनी मुराद भेजते हैं भक्त

Golu Devta Temple Ghorakhal Bhowali Golu Devta Temple History uttarakhand

आप सभी इस बात से वाकिफ ही होंगे कि भारत एक धर्म प्रधान देश है ऐसे में यहां लोगों में काफी आस्था देखी जाती है और सभी लोग भगवान को मानते हैं. ऐसे में सभी इस बात को जानते और मानते हैं कि वह भगवान से कुछ भी मनोकामना करेंगे तो वह उन्हें मिल जाएगा. जी हाँ, ऐसे में हर इंसान भगवान से कुछ ना कुछ मांगता ही है और मांगने के लिए उन्हें मंदिर भी जाना पड़ता है. अब आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर आपको जाने की भी जरूरत नहीं है लेकिन आप घर पर ही बैठे बैठे वहां अपनी मन्नत पहुंचा सकते हैं और मनवा भी सकते हैं. 

जी हाँ, इसमें घर बैठे ही आप भगवान से मन्नत मांग सकते हैं और पूरी भी करवा सकते हैं. जी दरअसल हम जिस मंदिर की बात कर रहे हैं वह मंदिर देवभूमि उत्तराखंड में है.

कहते हैं यहां भगवान के दर्शन के लिए आने की जरूरत नहीं पड़ती, बल्कि सिर्फ चिठ्ठी लिखकर काम हो जाता है. जी हाँ, कहते हैं यह हिंदू मंदिर एकलौता ऐसा है जहां सिर्फ चिट्ठी भेजकर भी सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं. कहते हैं देव भूमि उत्तराखंड की धरती पर गोलू देवता नामक क्षेत्रीय देवता का मंदिर है जो सिर्फ आस-पास के गांवों में ही नहीं बल्कि पूरे देश में प्रसिद्ध है. आप सभी को बता दें कि यह मंदिर उत्तराखंड के अल्मोड़ा और नैनीताल जिलों के बीच में पड़ता है और यहां केवल चिट्ठी भेजने से ही मुराद पूरी हो जाती है. 

यहाँ दो महीने तक नहीं निकलता सूरज, रहता है घनघोर अँधेरा

यहाँ कुंवारे लोग देते हैं टैक्स, वजह जानकर सर पकड़ लेंगे आप

यहाँ मंदिर में चढ़ाए जाते हैं बर्गर और सैंडविच

 

You may be also interested

Recent Stories

1