Trending Topics

11 अक्टूबर को है अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस, जानिए कैसे हुई शुरुआत

International Girl Child Day History

हर साल अक्टूबर महीने की 11 तारीख को संयुक्त राष्ट्र और यूनिसेफ समेत पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है। यह दिन लड़कियों को समर्पित होता है लेकिन आज जो स्थिति है उसे देखकर इस दिन की बधाई नहीं दी जा सकती है। आज लड़कियों की स्थिति क्या है यह किसी से छुपी नहीं है। वह अपने घर में ही सुरक्षित नहीं हैं। पूरी दुनिया उनके लिए दुश्मन बनी बैठी है। आज के दिन बच्चियों के मानवाधिकारों और उन्हें सशक्त बनाने के तरीकों के बारे में जानकारी देने वाले कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। केवल यही नहीं बल्कि लड़कियों के लिए और भी कई कार्यक्रम किये जाते हैं।

आप सभी को बता दें कि इस दिन को मनाने का विचार लगभग 25 साल पहले आया था। उस समय 200 देशों के 30,000 लोगों ने चीन के बीजिंग शहर में आयोजित चौथे विश्व सम्मेलन में महिलाओं और लड़कियों के अधिकारों को मानवाधिकारों के रूप में मान्यता देने का संकल्प लिया था। जी दरअसल इस सम्मेलन का समापन प्लेटफ़ॉर्म फ़ॉर एक्शन: महिलाओं के सशक्तिकरण के रुप में कई सालों तक लगातार चलाया गया था।

उसके बाद धीरे-धीरे इस कैंपेन में लड़कियों का बाल विवाह, शिक्षा असमानता, लिंग आधारित हिंसा, आत्म-सम्मान, लड़कियों के अधिकारों,लैंगिक और प्रजनन स्वास्थ्य अधिकारों से लेकर समान वेतन तक के मुद्दों को एजेंडे में जोड़ दिया गया। उसी के बाद से साल 2012 में 11 अक्टूबर को यूनिसेफ की पहल पहली बार अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया गया। अब यह हर साल मनाया जाता है।

Recent Stories

1