Trending Topics

मिला दुनिया के पहले उपन्यास का लापता हस्तलिखित हिस्सा

Lost chapter of world first novel found in Japanese storeroom

उपन्यास और साहित्य लेखन का इतिहास बहुत पुराना माना जाता है. दुनिया के बहुत से उपन्यास सदियों पहले लिखे गए थे और आज के समय में वह मिलते नहीं है. ऐसे में हाल ही में खोज में विश्व का पहला उपन्यास माने जाने वाले 'द टेल ऑफ जेंजी' का एक लापता हस्तलिखित हिस्सा मिला है. जी हाँ, जानकारों का कहना है कि यह उपन्यास का पांचवां हिस्सा है और उपन्यास का यह लापता हिस्सा टोक्यो में मिला है. आपको बता दें कि यहां रहने वाले मोटोफुयु ओकाची के घर के रेस्टरूम से उपन्यास का यह हिस्सा प्राप्त किया गया. जी दरअसल द टेल ऑफ जेंजी नाम के इस उपन्यास को मुरासाकी शिकिबु नाम की महिला ने 10वीं सदी में लिखा था और उपन्यास मिकवा-योशिदा डोमेन वंश के जापानी सम्राट के बेटे जेंजी के जीवन पर आधारित है.

वहीं कुल 54 अध्याय वाले इस उपन्यास को 10वीं से 11वीं सदी के बीच लिखा गया था और इसमें जेंजी के युद्ध कौशल, राजनीतिक और रोमांटिक जीवन का उल्लेख है. इसी के साथ यह उपन्यास जिस व्यक्ति के स्टोररूम से मिला है, उनके परिवार का संबंध मिकवा-योशिदा डोमेन वंश से बताया जाता है.

आपको बता दें कि इस उपन्यास के सबसे पुराने संस्करण को कवि फुजिवारा टीका ने दोबारा लिखा था और वर्ष 1241 में उनकी मृत्यु हो गई थी और शोधकर्ताओं ने बताया कि, ''उपन्यास के 54 अध्यायों में से चार का ही टीका द्वारा दोबारा लिखा जाना सिद्ध है. अब यह बात सामने आई है कि यह पांचवां हिस्सा भी फुजिवारा टीका द्वारा ही दोबारा लिखा गया है.'' इसी के साथ उपन्यास में जेंजी और हियान कोर्ट की एक महिला के बीच प्रेम की कहानी का भी उल्लेख है.

नवरात्र के आंठवे दिन होता है माँ महागौरी का पूजन, जानिए जन्म की कहानी

नवरात्र के आखिरी दिन जरूर जानिए माँ सिद्धिदात्री के बारे में

इन लॉजिकल कारणों के कारण हुआ था रावण का अंत

 

You may be also interested

Recent Stories

1