Trending Topics

ये है VIP पेड़, 24 घंटे सुरक्षा करती है पुलिस

VIP tree in the country

दुनियाभर में कई ऐसी चीज़ें हैं जो बहुत अजीब है और आज हम आपको एक ऐसे पेड़ के बारे में बताने जा रहे हैं. जी दरअसल आज हम आपको जिस पेड़ के बारे में बताने जा रहे हैं उसके आस-पास 24 घंटे सुरक्षा दी जाती है. वैसे यह सुनकर आपको यकीन तो नहीं हो रहा होगा लेकिन यह सच है. जी दरअसल मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल और विदिशा के बीच सलामतपुर की पहाड़ी पर एक ऐसा पेड़ है, जिसे किसी वीआईपी नेता की तरह सुरक्षा दी जाती है. कहा जाता है इसे लेकर एक मान्यता है. जी दरअसल यह एक पीपल का पेड़ है, जिसे बोधि वृक्ष के नाम से जाना जाता है. वहीं साल 2012 में जब श्रीलंका के तत्कालीन राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने भारत का दौरा किया था, उसी दौरान उन्होंने यह पेड़ लगाया था. 

आप सभी को यह भी बता दें कि ईसा से 531 वर्ष पहले बोधि वृक्ष के नीचे ही भगवान बुद्ध को ज्ञान प्राप्त हुआ था और बौद्ध धर्म में इस वृक्ष का बेहद ही खास महत्व है. जी हाँ, ऐसी मान्यता है कि ईसा पूर्व तीसरी शताब्दी में सम्राट अशोक ने अपने बेटे महेंद्र और बेटी संघमित्रा को बोधि वृक्ष की एक टहनी देकर बौद्ध धर्म के प्रचार-प्रसार के लिए श्रीलंका भेजा था. उन्होंने वह बोधि वृक्ष श्रीलंका के अनुराधापुरा में लगाया था, जो आज भी मौजूद है. 

आप सभी को बता दें कि कई लोग ऐसा भी कहते हैं कि जिस बोधि वृक्ष के नीचे भगवान बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति हुई थी, असल में वह पेड़ बिहार के गया जिले में है. इसी के साथ इस पेड़ को कई बार नष्ट करने का भी प्रयास किया गया था, लेकिन यह चमत्कार ही था कि हर बार एक नया वृक्ष उग आता था. केवल इतना ही नहीं साल 1876 में यह पेड़ प्राकृतिक आपदा के चलते भी नष्ट हो गया था, जिसके बाद 1880 में अंग्रेज अफसर लॉर्ड कनिंघम ने श्रीलंका के अनुराधापुरम से बोधिवृक्ष की शाखा मंगवा कर उसे बोधगया में फिर से स्थापित करवाया गया था.

पति को तलाक देने के बाद उसकी ख़ुशी से जली पत्नी, किया ये काम

इस गाँव में मंदिर में माँ को चढ़ाया जाता है पशु का पहला दूध

अपनी शादी के कार्ड पर दुल्हन ने लिखवाया कुछ ऐसा कि हो रही तारीफ़

 

You may be also interested

Recent Stories

1