Trending Topics

इस मंदिर के शिवलिंग को छूटे ही सुन्न हो जाते हैं भक्तों के हाथ

Matangeshwar Temple Khajuraho unknown fact about this history

आप सभी जानते ही हैं कि हमारे देश में कई सारे मंदिर हैं और हर मंदिर के बारे में कोई ना कोई रहस्य है. ऐसे में आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे. जी जिस मंदिर की हम बात कर रहे हैं वह मतंगेश्वर मंदिर है. जी हाँ, इस मंदिर को बहुत खास माना जाता है, क्योंकि इस मंदिर में बने शिवलिंग को छूने से हाथ एकदम ठंडे हो जाते हैं. कहा जाता है यह मंदिर खजुराहो में है और खजुराहो में मौजूद सभी अन्य मंदिरों में से ये सबसे ज्यादा प्रसिद्ध भी है. ऐसे में इस मंदिर में एक विशाल शिवलिंग बनाया गया है जो कि करीब ढाई मीटर ऊंचा है और इस शिवलिंग का व्यास एक मीटर से भी अधिक है. 

इसी के साथ ऐसी मान्यता है कि ये शिवलिंग जितना ऊपर है उससे कई अधिक नीचे भी दबा हुआ है और इसे राजा महाराजाओं ने बनवाया था. यह मंदिर चन्देल के राजाओं ने बनवाया था और उस समय के राजाओं ने खजुराहो में कुल 85 मंदिर बनवाए थे लेकिन अब यहां पर केवल 25 मंदिर ही हैं. बात करें मतंगेश्वर मंदिर की तो यह सबसे पवित्र मंदिर है. कहते हैं इस मंदिर का नाम मतंगेश्वर मंदिर रखने के पीछे बहुत बड़ा कारण है जो यह है कि राजा चंद्र देव ने इस मंदिर के निर्माण के दौरान शिवलिंग वाली जगह के नीचे मरकत मणि को दबाया था.

वहीं राजा चंद्रदेव को लगता था कि इस मणि को दबाने से उनके राज्य की रक्षा होगी. उस समय में मरकत मणि बेहद ही खास तरह का मणि था और इस मणि का जिक्र महाभारत में भी किया गया है. आप सभी को बता दें कि महाभारत के अनुसार ये मणि युधिष्ठिर के पास हुआ करता था जो कि एक मूर्ति में जड़ा हुआ था और इसी मूर्ति को राजा चंद्र देव ने शिवलिंग के नीचे दबा दिया था. इसी कारण से ये शिवलिंग ठंडा रहता है और यहां पर आकर जो भी भक्त शिवलिंग को गले से लगाते हैं उनके हाथ सुन्न हो जाते हैं. 

विवाह की कामना जल्द पूरी कर देता है यह रंग बदलता शिवलिंग

यहाँ इस वजह से गुलाल नहीं भस्म से खेली जाती है होली

एक ऐसा स्कार्फ जो आपको गायब कर सकता है, जानिए कहाँ मिलता है

 

You may be also interested

Recent Stories

1