Trending Topics

आज है हिंदी दिवस, जानिए क्यों करते हैं सेलिब्रेट

Hindi Diwas 2019 History significance Date and celebration

हिंदी भाषा का आज दिन है. जी दरअसल आज हिंदी दिवस है. ऐसे में इसे राजभाषा का दर्जा 14 सितंबर, 1949 के दिन मिला था और तब से हर साल यह दिन 'हिंदी दिवस' के तौर पर मनाया जाता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है? तो आइए आज हम आपको बताते क्यों मनाते हैं हिंदी दिवस.

साल 1947 में जब अंग्रेजी हुकूमत से भारत आजाद हुआ तो उसके सामने भाषा को लेकर सबसे बड़ा सवाल था, वह भी इस वजह से क्योंकि भारत में सैकड़ों भाषाएं और बोलियां बोली जाती है. कहा जाता है 6 दिसंबर 1946 में आजाद भारत का संविधान तैयार करने के लिए संविधान का गठन हुआ और संविधान सभा ने अपना 26 नवंबर 1949 को संविधान के अंतिम प्रारूप को मंजूरी दे दी.

वहीं आजाद भारत का अपना संविधान 26 जनवरी 1950 से पूरे देश में लागू हुआ. उसके बाद भारत की कौन सी राष्ट्रभाषा चुनी जाएगी ये मुद्दा काफी अहम था और काफी सोच विचार के बाद हिंदी और अंग्रेजी को नए राष्ट्र की भाषा चुना गया. वहीं संविधान सभा ने देवनागरी लिपी में लिखी हिन्दी को अंग्रजों के साथ राष्ट्र की आधिकारिक भाषा के तौर पर स्वीकार किया था और 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से निर्णय लिया कि हिंदी ही भारत की राजभाषा होगी. वहीं देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने कहा कि इस दिन के महत्व देखते हुए हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाए. आप सभी को बता दें कि पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 में मनाया गया था.

इस वजह से भगवान गणेश ने दे दिया था चन्द्रमा को श्राप

इस वजह से 13 अंक को सबसे डरावना मानते हैं लोग

यहाँ भूल से भी नहीं होती हनुमान जी की पूजा

 

You may be also interested

Recent Stories

1