Trending Topics

आखिर क्यों लगती है ठंड? जानिए जवाब

why PEOPLE FEEL cold scientific reason

आजकल ठंड का मौसम है और इस मौसम में ठंड लगना आम बात है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि इतनी ठंड क्यों लगती है? अगर सोचा है और आप इसका जवाब नहीं जानते तो हम आपको बताते हैं ऐसा क्यों होता है?

जी दरसल हर इंसान के खान-पान, रहन-सहन और शरीर की आंतरिक क्षमता के अनुसार उसे ठंड लगती है. हालाँकि ठंड लगने की शुरुआत सबसे पहले कहां महसूस होती है. क्या आप जानते हैं? जी दरअसल ठंड सबसे पहले त्वचा (Skin) पर महसूस होती है. रोएं खड़ें हो जाते हैं. जब तापमान गिरता है तब शरीर के पहले सुरक्षा घेरे यानी त्वचा को यह महसूस होता है. वहीं त्वचा के ठीक नीचे मौजूद थर्मो-रिसेप्टर नर्व्स (Thermo-receptors Nerves) दिमाग को तरंगों के रूप में संदेश भेजती हैं कि ठंड लग रही है. यह साधारण सी फीलिंग अलग-अलग इंसान के शरीर में अलग-अलग स्तर और तीव्रता पर होती है.  कहा जाता है त्वचा से निकलने वाली तरंगें दिमाग के हाइपोथैलेमस (Hypothalamus) में पहुंचती हैं. ऐसे में हाइपोथैलेमस ही शरीर के आंतरिक तापमान और पर्यावरण का संतुलन बनाता है. वहीं संतुलन बनाने की प्रक्रिया में रोएं खड़े होते हैं. क्योंकि उनके नीचे की मासंपेशियां सिकुड़ने लगती हैं. इस दौरान शरीर पर मौजूद बाल की परत आपको सर्दी से बचाने में मदद करती है.

आपको बता दें कि हाइपोथैलेमस शरीर के नर्वस सिस्टम यानी तंत्रिका तंत्र को यह बताता है कि शरीर के तापमान में गिरावट महसूस हो रही है. जी हाँ और यह महत्वपूर्ण सूचना है क्योंकि हमारा शरीर तापमान के गिरने को बर्दाश्त नहीं कर सकता. ऐसे में अगर ज्यादा तापमान नीचे गिरा तो कई अंग काम करना बंद कर देंगे. वहीं इस दौरान मल्टी ऑर्गन फेल्योर होने की वजह से इंसान की मौत हो सकती है. इसका मतलब है ज्यादा ठंड जिसे हाइपोथर्मिया कहते हैं, उससे लोगों की मौत हो जाती है. 

सेब के बीजों में होता है खतरनाक जहर, लेकिन फिर भी क्यों नहीं होती इंसान की मौत?

आखिर क्यों लगता है सर्दी में किसी को छूने से करेंट

आखिर क्यों ठंड में हमारे मुंह से निकलती है भाप?

 

You may be also interested

1