Trending Topics

Stray Dogs के लिए मसीहा हैं यह 70 साल के दादा जी

70 Yr Old Man In Kerala Provides Ray Of Hope For Stray dogs

Stray Dogs यानी गलियों में घूमने वाले आवारा डॉग्स. लोग इन्हे प्यार कम करते हैं और इनसे चिढ़ते ज्यादा है. वैसे आज हम आपको उनसे मिलवाने जा रहे हैं जो इन डॉग्स के लिए मसीहा हैं. जी दरअसल हम बात कर रहे हैं केरल के तिरुवनंतपुरम ज़िले के Kazhakoottam इलाके में रहने वाले 70 वर्षीय मनियन पिल्लई की. इलाके के सभी कुत्ते इन्हें बहुत पसंद करते हैं. इनको देखते ही वो इनके पास चले आते हैं. जी दरअसल ऐसा इसलिए क्योंकि मनियन पिल्लई इनके खाने-पीने का ख़्याल रखते हैं. मनियन पिल्लई करीब-करीब 2 दशकों से इन डॉग्स को भोजन दे रहे हैं. न इनके पास घर है न नौकरी लेकिन फिर भी यह डॉग्स को खाना खिलाना नहीं भूलते. 

मनियन पिल्लई कहते हैं- 'मैं शुरू से ही एक पशु प्रेमी रहा हूं. जब भी मैं किसी भूखे डॉगी को देखता हूं तो उसे अपनी जेब से खाना ख़रीद कर खिलाता हूं. मेरा मानना है कि धरती सिर्फ़ इंसानों कि ही नहीं बल्कि जानवरों की भी है. इंसानों को उनके साथ-साथ रहना सीखना चाहिए. मैं हमेशा खु़द का पेट भरने से पहले इनका पेट भरने की कोशिश करता हूं.'

इसके अलावा मनियन पिल्लई ने यह भी बताया कि वो पहले भारतीय सेना में काम करते थे. जी दरअसल उन्होंने 10 साल तक आर्मी में काम किया. लेकिन उसके बाद उन्होंने वो जॉब छोड़ दी. अब उन्हें पेंशन भी नहीं मिलती, लेकिन इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता. बीते लॉकडाउन के दौरान उनकी जॉब चली गई और अब उनके पास न तो घर है न ही काम. इन सभी के बाद भी वह डॉग्स के खाने का इंतज़ाम किसी न किसी तरह कर ही लेते हैं.

उनका कहना है- 'मेरा सारा दिन इनके आस-पास ही गुज़र जाता है. इन बेसहारा डॉग्स को खाना खिलाकर मुझे बहुत ख़ुशी मिलती है. कभी-कभी मैं इन पर 1000 रुपये तक ख़र्च कर देता हूं. कुछ लोग मुझे ऐसा करने से रोकते हैं, डांटते हैं और डॉग्स के पीछे डंडा लेकर भागते हैं. उन्हें अपना ये रवैया बदलना चाहिए. जानवरों को भी धरती पर रहने का समान अधिकार है.'

इस हॉट मॉडल के सेक्सी फिगर ने लगाई फैंस के दिलों में आग

आखिर क्यों अधिकतर हरी या भूरे रंग की ही होती हैं Beer की बोतल?

इस महिला ने रोलर स्केट्स पर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

 

You may be also interested

1