Trending Topics

5 महीने के इस बच्चे को लगाया गया दुनिया का सबसे महंगा इंजेक्शन, जानें क्यों?

Five month old baby becomes first patient to receive world most expensive drug

दुनिया के हर शख्स का बीमार होना आम है. वही कई बार कुछ बीमारियां ऐसी होती हैं जो चौकाने वाली होती है और उनका इलाज बहुत महंगा होता है. ऐसी ही बीमारी हुई पांच महीने के आर्थर मॉर्गन को. जी दरअसल इस बच्चे को एकदुर्लभ किस्म की बीमारी है जिससे उसकी मांसपेशियां खत्म होती रहती हैं. कुछ रिपोर्ट्स में बताया गया है कि इस खतरनाक बीमारी से हर साल दुनियाभर में सिर्फ 60 बच्चे पीड़ित होते हैं. आपको बता दें कि आर्थर मॉर्गन स्पाइनल मस्क्युलर एट्रोफी से जूझ रहा है. वैसे तो इस बीमारी से शरीर में लकवा मार जाता है और दो साल के अंदर किसी भी व्यक्ति की मौत हो जाती है, लेकिन कुछ साल पहले आर्थर मॉर्गन के इस पर जीत हासिल करने की एक उम्मीद जगी. 

उसी के बाद से आर्थर मॉर्गन का इलाज दुनिया की सबसे महंगी दवाई के जरिए हो रहा है. आपको बता दें कि इसकी एक खुराक से ही आर्थर मॉर्गन में काफी सुधार देखा गया है. लेकिन इसकी एक खुराक की कीमत करीब 16.9 करोड़ रुपए से भी ज्यादा है. आपको बता दें कि आर्थर मॉर्गन को सीधे बैठने और सिर सीधा रखने में परेशानी होती थी.

ऐसे में तीन हफ्ते बाद आर्थर मॉर्गन को जीन थेरेपी Zolgensma दी गई. आपको यह भी बता दें कि इस दवा को दुनिया की सबसे महंगी दवा माना जाता है. कुछ स्टडीज में पाया गया है कि यह पैरैलेसिस से बचा सकती है. इसे मरीज को IV ड्रिप से दिया जाता है. ये दवा ऐसे प्रोटीन बनाती है जो SMA पीड़ितों में नहीं बनता है. जो मांसपेशियों के विकास और मूवमेंट के लिए जरूरी है.

आखिर गोल क्यों होते है ऑक्सीजन सिलेंडर? जानिए कारण

ऐसा कुआं जिसके अंदर बनी है 30 किलोमीटर लंबी सुंरग, जानिए क्यों?

इसे कहते हैं गोल्डन ब्लॉउड ग्रुप, जानिए क्यों?

 

You may be also interested

1