Trending Topics

आखिर क्यों ऊनी टोपियों में होता है Pom-Pom

Why There Are Pom-Poms On Woollen Caps

सर्दियों का मौसम चल रहा है और इस मौसम में लडकियां अपने आपको स्टाइलिश दिखाने के लिए तरह-तरह के ड्रेस पहनती है और टोपी लगाती है. ऐसे में आप सभी ने ऊनी टोपियों में Pom-Pom देखा होगा जो बेहतरीन लगता है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ऊनी टोपियों में Pom-Pom क्यों होता है? अगर सोचा है और आपको नहीं पता तो आज हम आपको इसके बारे में बताते हैं.

जी दरअसल ऊनी टोपियों पर पॉम-पॉम की सजावट सदियों से चली आ रही है. आपको बता दें कि Pom-Pom की डेकोरेशन वाइकिंग्स के युग से देखी गई है. ऐसा माना जाता है कि वाइकिंग के देवता फ़्रीयर को 1904 में स्वीडन के Sodermanland के फ़ार्म Rallinge में खोजी गई एक प्रतिमा में पॉम-पॉम वाली टोपी या हेलमेट पहने हुए दिखाया गया था. वहीं बाद में कुछ यूरोपियन देश के सिपाही भी पॉम-पॉम वाली टोपी पहनने लगे, जो उनकी रेजिमेंट के साथ ही उनकी रैंक को भी दर्शाता था.

पॉम-पॉम का रंग सिपाहियों की नीचे से ऊपर रैंक ऑर्डर का प्रतीक था. वहीं व्यापक मंदी के समय लाल पॉम-पॉम के साथ ऊनी टोपी स्कॉटलैंड में काफ़ी पॉपुलर हो गई थी. टैज़ल्स और जड़े हुए ट्रिंकेट की तुलना में, पॉम-पॉम एक आर्थिक रूप से अच्छा अलंकरण था, क्योंकि इसे बचे हुए धागे से बनाया जा सकता था. वहीं बाद में नाविक भी पॉम-पॉम वाली टोपी पहनने लगे. वह इसे सीमित जगहों और ऊफान लेते समुद्र में अपने सिर को टकराने से बचाने के लिए पहनते थे. इसी के साथ 'Monkees Michael Nesmith' बैंड के सदस्य इस तरह की टोपियों का ट्रेंड बढ़ाने में अहम रहे.

जूतों के पीछे ये जो फीता लगा होता है, उसका क्या है मतलब?

आखिर क्यों दुल्हन विदाई के समय फेंकती है चावल

आखिर क्यों स्विस चीज़ में होते हैं इतने छेद? जानिए लॉजिक

 

You may be also interested

1