Trending Topics

आखिर क्यों रविवार को नहीं तोड़ते तुलसी का पत्ता

What is the reason behind the phrase we should not touch the Tulsi plant on Sunday

आप सभी ने कई बार घर में सुना होगा कि आज रविवार है तुलसी मत तोडना. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर ऐसा क्यों, कभी सोचा है इसके पीछे का लॉजिक..? अगर सोचा है और आपको नहीं पता तो आज हम आपको बताएंगे इसके पीछे का लॉजिक.

जी दरअसल तुलसी के पौधे को लेकर कई तरह की मान्यताएं है. कहा जाता है गुरुवार के दिन तुलसी का पौधा लगाना चाहिए. ध्यान रहे कि इसे घर के बाहर नहीं बल्कि बीच आंगन में लगाना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि रहती है. ऐसी भी मान्यता है कि रविवार के दिन तुलसी के पत्ते को नहीं तोड़ना चाहिए क्योंकि रविवार का दिन भगवान विष्णु का प्रिय वार होता है और तुलसी भी भगवान विष्णु को प्रिय होती है इस वजह से इस दिन तुलसी को नहीं तोड़ना चाहिए.

वैसे विष्णु पुराण को पढ़े तो उसमे लिखा है रविवार, एकादशी, द्वादशी, चंद्र ग्रहण, सूर्य ग्रहण और शाम के समय में तुलसी नहीं तोड़ना चाहिए. इसी के साथ ऐसा भी कहा जाता है कि एकादशी के दिन तुलसी तोड़ने से घर में गरीबी आती है. कुछ शास्त्रों को माने तो अगर कोई व्यक्ति बिना नहाए तुलसी तोड़ता है तो भगवान विष्णु उस पत्ते को स्वीकार नहीं करते हैं.

आखिर क्यों होती हैं हवाई जहाज में लाल, हरी और सफ़ेद लाइट

आखिर क्यों होते हैं मोबाइल में 10 ही नंबर

आखिर क्यों होता हैं फ़्लश में एक बड़ा और एक छोटा बटन?

 

1