Trending Topics

चुनाव में खड़े हुए नेता जी, परिवार वालों ने भी नहीं दिया वोट

Gujarat panchayat polls Candidate with 12 voters in family gets just 1 vote his own

दुनियाभर में कई लोग हैं जो चुनाव में वोट लेने के लिए खड़े हो जाते हैं और नेता बनना उनका सपना होता है लेकिन यह बात तो हम सभी जानते हैं कि नेता किसी के सगे नहीं होते. हालाँकि नेताओं के सगे ख़ुद उसके सगे नहीं होते, यह बात भी सिद्ध हो गई है. जी दरअसल ऐसा किस्सा गुजरात में हुआ जहाँ वीपी जिले के छरवाला गांव में एक नेता जी को उनके अपनों ने ही धोखा दे दिया. जी दरअसल राज्य में चल रहे पंचायत चुनाव में संतोषभाई नाम के एक नेता जी चुनावी माहौल में एकदम झूमने के लिए उतर पड़े थे. 

इस दौरान चुनावी प्रचार में पूरा गांव उन्होंने नाप डाला और अम्मा-बहनी से लेकर चचा-ताऊ का पैर छू-छूकर राजनीति में अपना पैर मजबूत करने का सपना देखने लगे. हालाँकि जिस दिन इस चुनाव का रिज़ल्ट आया, उस दिन राजनीति की ज़मीन तो छोड़िए, ख़ुद संतोषभाई के घर की ही छत उनके सिर पर ढम्म से आ गिरी. जी दरअसल हुआ यूँ कि नेता बनने का सपना देखने वाले संतोषभाई को महज़ एक वोट प्राप्त हुआ है. वो भी ख़ुद उनका.  वैसे चुनाव के मैदान में जीत-हार तो लगी रहती है, लेकिन नेता जी का कलेजा जलाने वाला काण्ड ये था कि उनके परिवार में ही 12 सदस्य हैं.

यानी यह कहा जा सकता है कि गांव वाले तो छोड़िए, ख़ुद उनके परिवार ने उन्हें सरपंची के क़ाबिल नहीं समझा. जी हाँ और इस बात को जानकर बेचारे वोटों की गिनती के दौरान काउंटिंग सेंटर पर ही भावुक हो गए. यहाँ वह कहने लगे, गांव वालों ने वोट नहीं दिया, कोई बात नहीं. मगर बताइए परिवार वालों ने भी वोट नहीं दिया. अब यह किस्सा सोशल मीडिया पर वायरल है.

किसने किया था दुनिया का सबसे पहला टेक्स्ट मैसेज जो 1.75 करोड़ रुपये में हो रहा नीलाम

दुनिया की 3 अद्भुत चीज़ों की क़ीमत सुनकर उड़ेंगे आपके होश

OMG! ये है दुनिया का सबसे चौड़ा पेड़

 

1