Trending Topics

OMG! ‘सुसाइड फ़ॉरेस्ट’, जहाँ से सुनाई देती हैं आत्माओं की चीखें

Inside Aokigahara Japan Suicide Forest

आप सभी ने आज तक कई जंगलो के बारे में पढ़ा होगा लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं 'सुसाइड फ़ॉरेस्ट' के बारे में. यह 'सुसाइड फ़ॉरेस्ट' माउंट फ़ूजी के नॉर्थवेस्ट में 35 स्क्वेयर किमी के बड़े एरिया में फैले 'ऑकिगहरा जंगल' में है. आपको यह जानकर हैरानी होगी कि यहां लोग घूमने नहीं, बल्कि आत्महत्या करने आते हैं और यही कारण है कि ये जंगल पूरी दुनिया में 'सुसाइड फ़ॉरेस्ट' के नाम से जाना जाता है. यहाँ जगह-जगह लटकती हुई लाशें, ज़मीन पर पड़े हुए जूते-चप्पल और घनघोर सन्नाटा दिखाई देता है. कुछ ऑफ़िशियल रिकॉर्ड्स को माने तो साल 2003 से क़रीब 105 लाशें यहाँ खोजी जा चुकी हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक़ इनमें से ज्यादतर बुरी तरह सड़ चुकी थीं और बाकियों को जानवरों ने खा डाला था. 

वहीँ जापानी मॉयथॉलजी के अनुसार इस जंगल में मरे हुए लोगों की आत्माएं रहती हैं. लोग कहते है कि इस जंगल में हुई आत्महत्याओं की वजह से यहां पैरानॉर्मल ऐक्टिविटीज होने लगी हैं. अब जो कोई भी जंगल के क़रीब से निकलता है, ये जंगल उसे अपनी ओर बुलाने लगता है.

केवल यही नहीं बल्कि एक बार भी अगर कोई ग़लती से अंदर चले गया तो फिर समझिये उसकी ज़िंदगी खत्म. यहाँ लोगों का मानना है कि रातभर जंगल में लाशों का पड़े रहना उनकी आत्माओं के लिए अच्छी बात नहीं होती. जी दरअसल अगर लाशें वहीं रहती हैं, तो वो रातभर चीखती रहती हैं और अपने शरीर को खु़द हिलाती रहती हैं.

इसके चलते पुलिस की मदद से इन लाशों को हटाया जाता है. यहाँ फॉरेस्ट गार्ड उन लाशों को उठा कर लोकल फॉरेस्ट स्टेशन में रखते हैं. सबसे खतरनाक बात यह है कि यहां मॉडर्न टेक्नोलॉजी काम करना बंद कर देती है. यहां जाते ही लोगों का फ़ोन भी काम नहीं करता. जी हाँ और यहां आपको कभी मोबाइल सिग्नल नहीं मिलेगा, इसलिए इस जंगल में पहुंचने के बाद वापस आना बेहद मुश्किल है.

बाजार से खरीदा अंगूर का पैकेट, अंदर निकला कुछ ऐसा कि देखकर उड़ गए होश

आज तक नहीं सुलझ पाई 1947 में हुई इस हत्या की गुत्थी

ये ब्रांड्स भारतीय नहीं विदेशी हैं

 

You may be also interested

1