Trending Topics

इस वजह से ट्रैन के बोगियों में दरवाजे के पास लगी होती है खिड़की

Why indian railway use more bars in last window seat in sleeper and general coaches

दुनियाभर में ना जाने कितनी ही चीज़ें हैं जिनके पीछे कोई ना कोई लॉजिक होता है. ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं ट्रैन में बनी स्पेशल खिड़की के बारे में. जी हाँ, आप सभी ने ट्रेन में सफर जरूर किया होगा, लेकिन क्या कभी आपने इस बात पर गौर किया है कि बोगियों में दरवाजे के पास वाली खिड़की सबसे अलग क्यों होती है? तो आइए आपको बताते हैं इसके बारे में. आपको बता दें कि ट्रेन की स्लीपर और जनरल बोगियों में खिड़कियों में सरिया लगा होता है, लेकिन दरवाजे के पास वाली खिड़की में सामान्य से अधिक सरिया लगा होता है लेकिन इसकी वजह जानकर आप हैरान हो जाएंगे. 

जी दरअसल, दरवाजे के पास वाली खिड़की में चोरी होने का डर सबसे ज्यादा होता है और चोर अकसर  इन खिड़कियों मे हाथ डालकर सामान चुरा लेते थे, क्योंकि इन खिड़कियों तक दरवाजे के पायदान से भी पहुंचा जा सकता है.

इसी के साथ रात के समय जब सभी यात्री सो रहे होते हैं, तब चोर इल खिड़कियों के जरिए आसानी से सामान चुरा लेते थे और इस समस्या से निजात पाने के लिए ही इन खिड़कियों में सामान्य से अधिक सरिया लगा दिया गया. ऐसे में अधिक सरिया होने की वजह से गैप इतना कम हो गया कि खिड़की में हाथ घुस नहीं सकता है. इसी के साथ दरवाजों की खिड़कियों में भी अधिक सरिया वाली खिड़की लगाए जाने  लगे हैं ताकि रात में आउटर में गाड़ी  रुकने के दौरान चोर खिड़की से हाथ डालकर दरवाजा न खोल पाएं.

Recent Stories

1