Trending Topics

प्रदूषण के चक्कर में छोटा हो रहा है पुरुषों का निजी अंग

Human penises are shrinking because of pollution

प्रदूषण एक ऐसी समस्या है जिसका असर हर जगह दिख रहा है। ऐसे में हाल ही में हुई एक रिसर्च के अनुसार प्रदूषण के कारण पुरुषों के लिंग सिकुड़ रहे हैं और जननांग भी ख़राब हो रहे हैं। जी हाँ, इस बारे में दावा पर्यावरण वैज्ञानिक डॉ। शन्ना स्वान ने किया है। उन्होंने काफी रिसर्च के बाद अपनी नई किताब ‘काउंटडाउन' में इस बारे में लिखा है। जी दरअसल डॉ. स्वान ने इसे इंसानों के ‘अस्तित्व पर संकट’ क़रार दिया है। 

आप सभी को बता दें कि वह न्यूयॉर्क के Mount Sinai अस्पताल में पर्यावरण एंड मेडिसिन की डॉक्टर और प्रोफ़ेसर हैं। उन्होंने कहा है कि, 'इसके पीछे वजह इंसानों द्वारा प्लास्टिक बनाने में इस्तेमाल होने वाला केमिकल है, जो हार्मोन-उत्पादक एंडोक्राइन सिस्टम को प्रभावित करता है।' केवल इतना ही नहीं बल्कि उनका कहना है इस वजह से इंसानों की प्रजनन क्षमता में तेजी से गिरावट दर्ज की जा रही है। इसका परिणाम यह कहा जा रहा है कि जो नए बच्चे पैदा हो रहे हैं, उनका लिंग छोटा हो रहा है। उन्होंने यह भी कहा है कि, 'हमारा आधुनिक समाज बुरी तरह से स्पर्म को ख़राब कर रहा है, महिला और पुरुष दोनों की प्रजनन क्षमता पर इसका इसर देखने को मिल रहा है। ये संकट आने वाले वक़्त में इंसानों के अस्तत्व पर ही संकट पैदा कर देगा।'

केवल इतना ही नहीं डॉ. स्वान का कहना यह भी है कि, 'वो खिलौने, प्लास्टिक या फिर खाने के जरिए इंसानी शरीर में आ जाता है और फिर मानव विकास को नुक़सान पहुंचाता है।' उनका कहना है साल 2045 तक अधिकांश मर्दों के स्पर्म में प्रजनन करने की क्षमता नहीं होगी।

कहाँ से शुरू हुआ था Ripped Jeans का फैशन, जानिए यहाँ

भगवान शिव पर चढ़ाने वाले दूध को इन छात्रों ने पहुंचाया गरीब बच्चों तक

 

1