Trending Topics

क्या आप जानते हैं मकर संक्रांति से जुडी ये कथा

makar sankranti katha ganga katha

हर साल मकर संक्रांति का पर्व धूम धाम से मनाया जाता है। यह पर्व हर साल 14 जनवरी के दिन आता है और आज भी इसे बहुत धूम धाम से मनाया जा रहा है। वैसे मकर संक्रांति को लेकर कई तरह की पौराणिक कथाएं प्रचलित हैं। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं एक कथा। जी दरअसल कहा जाता है मकर संक्रांति के दिन ही गंगा जी धरती के लिए शिवजी की जटा से प्रवाहित हुई थीं। आज हम आपको उसी से जुडी कथा बताने जा रहे हैं। 

पौराणिक कथा

एक बार राजा सगर ने अश्वमेघ यज्ञ का अनुष्ठान किया और अपने अश्व को विश्व-विजय के लिये छोड़ दिया। इंद्र देव ने उस अश्व को छल से कपिल मुनि के आश्रम में बांध दिया। जब कपिल मुनि के आश्रम में राजासगर के साठ हजार पुत्र युद्ध के लिये पहुंचे तो कपिल मुनि ने श्राप देकर उन सबको भस्म कर दिया। राजकुमार अंशुमान, राजा सगर के पोते ने कपिल मुनि के आश्रम में जाकर विनती की और अपने बंधुओं के उद्धार का रास्ता पूछा। तब कपिल मुनि ने बाताया कि इनके उद्धार के लिये गंगा जी को धरती पर लाना होगा। राजकुमार अंशुमान ने तय किया कि उनके वंश का कोई भी राजा चैन से नहीं रहेगा जब तक गंगा मां धरती पर नहीं आ जाती हैं। गंगा जी को धरती पर लाने के लिए राजकुमार अंशुमान ने कठिन तप किया और उसी में अपनी जान दे दी।

भागीरथ राजा दिलीप के पुत्र और अंशुमान के पौत्र थे। इसके बाद राजा भागीरथ ने घोर तपस्या करके गंगा जी को प्रसन्न किया और उन्हें धरती पर लाने के लिये मना लिया। इसके बाद भागीरथ ने भगवान शिव की तपस्या की जिससे महादेव गंगा जी को अपने जटा में रख कर, वहां से धीरे-धीरे गंगा के जल को धरती पर प्रवाहित कर सकें। भगवान शिव ने भागीरथ के कठिन तपस्या प्रसन्न होकर उन्हें इच्छित वर दिया।

इसके बाद गंगा जी महादेव के जटा में समाहित होकर धरती के लिये प्रवाहित हुई। भागीरथ ने गंगा जी को रास्ता दिखाते हुए कपिल मुनि के आश्रम गये, जहां पर उनके पूर्वजों की राख उद्धार के लिये प्रतीक्षा कर रही थी। कहते हैं कि गंगा जी के पावन जल से भागीरथ के पूर्वजों का उद्धार हुआ। उसके बाद गंगा जी सागर में मिल गया। कहा जाता है कि जिस दिन गंगा जी कपिल मुनि के आश्रम पहुंची उस दिन मकर संक्रांति का दिन था। कहते हैं कि इस कारण ही इस दिन श्रद्धालु गंगा स्नान करते हैं।

पुणे शहर में बनाया जाएगा पहला ट्रैफ़िक गार्डन

खाली जमीन पर लोग फेंकते थे कचरा, BMC ने बना दिया गार्डन

गाजर का हलवा खाने के फायदे सुनकर आप भी कहेंगे OMG

 

You may be also interested

1