Trending Topics

इकलौता हिन्दू मंदिर जिसे एक अंग्रेज़ ने बनवाया था

Baijnath Mahadev Temple In MP Was Built British couple

आज तक आपने सुना होगा कि कई राजाओ-महाराजाओं ने हिन्दू मंदिर बनवाये हैं लेकिन आज हम आपको उस हिन्दू मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जो अंग्रेजो ने बनवाया था. जी हाँ, हम बात कर रहे हैं मध्य प्रदेश के ज़िला अगर मालवा में बने बैजनाथ मंदिर के बारे में. कहा जाता है इस मंदिर को साल 1883 में एक अंग्रेज़ दम्पति ने बनवाया था. अगर हम एक लेख को मानें तो अंग्रेज़ Lieutenant Colonel C.Martin अफ़गानों से युद्ध करने गया था और सही सलामत लौट आया. इस पर अंग्रेज़ का यह कहना था कि महादेव ने योगी का भेष बनाकर उसकी रक्षा की थी. आप सभी को बता दें कि Lieutenant Colonel Martin मध्य भारत में पोस्टेड थे और उन्हें अफ़गानों को सबक सिखाने के लिये बॉर्डर पर भेजा गया था.

 Lieutenant Colonel Martin युद्ध क्षेत्र से अपनी पत्नी को चिट्ठियां लिखते थे लेकिन एक दिन अचानक चिट्ठियां आना बंद हो गई. जी दरअसल बॉर्डर पर अफ़गान, अंग्रेज़ों पर भारी पड़ रहे थे. उस समय Martin की पत्नी को चिंता होने लगी. इसी बीच एक दिन वो बैजनाथ मंदिर के पास से गुज़र रही थी, शंख और घंटियों की आवाज़ सुनकर वो मंदिर के अंदर गई. यहाँ उसने देखा मंदिर की स्थिति ठीक नहीं थी.

इसी बीच मंदिर में मौजूद ब्राह्मणों को उसने अपनी समस्या बताई तो ब्राह्मणों ने उससे कहा कि भगवान शिव सबकी सुनते हैं और भक्तों के कष्ट हर लेते हैं. इसी बीच ब्राह्मणों ने उसे 11 दिनों तक 'लघुरूद्री अनुष्ठान' करने को कहा.  यह सुनकर अंग्रेज़ की पत्नी ने भगवान शिव से मन्नत मांगी कि अगर उसका पति लौट आया तो वो शिव मंदिर को दोबारा बनवायेगी. उसने अनुष्ठान करवाया और अनुष्ठान के 11वें दिन उसे अपने पति की चिट्ठी मिली और उसे पता चला कि अंग्रेज़ युद्ध जीत गये और उसका पति सही-सलामत है. कहा जाता है Lieutenant Colonel Martin को युद्ध क्षेत्र में बाघ छाल और त्रिशूल लिये एक योगी मिला था. उसी ने उसे बताया था कि किस तरह वो और उसके साथी अफ़गानों के चंगुल से बच सकते हैं.

कहा जाता है उस योगी ने अफ़गानों पर धावा बोला और अफ़गानों को पीछे हटना पड़ा. यह सब Lieutenant Colonel Martin ने अपने पत्र में लिखा था और उसने यह भी बताया कि योगी ने उससे कहा कि उसकी पत्नी की पूजा और भक्ति से वो प्रसन्न हुये. कहा जाता है महादेव ही योगी बनकर Lieutenant Colonel Martin को बचाने गए थे. यह सब होने के बाद इंग्लैंड लौटने से पहले इस दम्पति ने मंदिर के पुनर्निमाण के लिये 15000 रुपये दान दिए थे.  

1