Trending Topics

क्या आपने कभी खाया है काला अमरुद, खाने से जल्दी नहीं आता बुढ़ापा

black guava bhagalpur

आज तक आप सभी ने कई अजीबोगरीब चीजों के बारे में पढ़ा या सुना होगा. अब आज हम आपको बताने जा रहे हैं काले अमरुद के बारे में. जी दरअसल यह अमरुद भागलपुर में मिला है. इसके बारे में यह दावा किया जाता है कि यह बुढ़ापा रोकने में सहायक होता है. जी हाँ, सामने आने वाली एक खबर के अनुसार, बिहार कृषि विश्वविद्यालय (बीएयू) भागलपुर में दो साल पहले अमरूद का पौधा लगाया गया था, उसमें फल लगना अब शुरू हुए हैं. एक-एक पौधे में चार से पांच किलो फल लगे हैं. इसमें लगे एक अमरूद औसतन सौ-सौ ग्राम के आसपास का है.

अब बीएयू इस शोध में जुट गया है कि कैसे इस पौधे को आम किसान उपयोग में लाए. इस बारे में विशेषज्ञ का कहना है कि अभी तक देश में इस अमरूद का व्यावसायिक उपयोग नहीं हो रहा है. आपको बता दें कि बिहार कृषि विश्वविद्यालय के अनुसंधान (शोध) के सह निदेशक डॉ. फिजा अहमद ने जो जानकारी दी है उनके अनुसार बीएयू में पहली बार इसका फल लगा है. उनका कहना है यहां की मिट्टी व वातावरण इस फल के लिए मुफीद (उपयुक्त) है और दो साल में यह फल देने लगता है. ऐसे में अब इसके प्रचार-प्रसार की आवश्यकता है, ताकि यह बाजार में बिक सके.

उनका कहना है कि भविष्य में हरे अमरूद की तुलना में इसका कर्मिशयल वैल्यू 10 से 20 प्रतिशत अधिक होगा. आपको बता दें कि अमरूद 30 रुपये से 60 रुपये किलो तक बिकता है और काला अमरूद में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा अधिक होती है जो बुढ़ापा आने से रोकता है.

OMG: बहुत ही अजीबोगरीब है ये पेड़

इस गाँव में सिटी की धुन पर रखे गए हैं लोगों के नाम

इस केकड़े के पंजे से टूट सकती है आपकी हड्डियां

 

1