Trending Topics

किदर चल्लेओ भिया इस बार न्यू यर पे

  • November 23, 2017
  • OMG!
planning for new year

भियो राम, फिर क्या मजे चल्ले. सब चकपक के नी? ठण्ड दिनों दिन बढ़ती जा रई हे इसकी बारा बजऊ. मतलब आलम ये हो गिया हे बड़े के जल्ली आफिस जाना पड़ जाये तो बिना सूटर के तो भार निकलने का तुम सोची नी सकते.

भार निकलने की बात चल लई हे, तो बड़े तुम कां निकल रये हो, कुछ पिलानिंग करी के नी बड़े दिन ने नए साल की. के ठन्डे पड़ेवे हो अभी तक, के थोड़ी देर और सोलु फिर समझते हे. भई मेरे समझने इत्ती देर में तो गाड़ी छूट जायेगी तुमारी, बड़े सारी बुकिंग फुल हो जायेगी फिर कां गरम करोगे अपने पार्टनर को.

में तो के रिया हु के आफिस का काम तो होता रेगा, अपनी न्यू यर पाल्टी के बारे में सोच लो. अपन कोई जगो का नाम लेकर किसी को प्रमोट नी करेंगे बड़े क्योंकि अपन को मालम हे कि हमसे बड़े ज्ञानी तो तुम होइ.

तो अपन तो येई केरे हे बड़े क़ि विदाउट वेस्टिंग एनी टाइम, गो एंड मेक इट वर्थव्हाइल. देखो ऐसा हे के इंग्लिस तो अपन बी जानते हे, बोलते नी वो बात अलग हे. अपने को डर हे के इंग्लिस बोलने के चक्कर में अपन से ये अपना इंदौरी टच नी छूट जाये, और सई साट इंग्लिस बोल बी दी बड़े तो अंग्रेज होन का क्या होयेगा.

तो अब जल्ली से छप्पन पे चाल जमाओ और पिलानिंग कल्लो के कां जाना हे और समझलो फटाफट, हे के नी?

इन्दौरी तड़का : हाँ भिया पुराने सूटर में पैसे वैसे मिले की नी

89 साल की उम्र में चढ़ा फोटोग्राफी का शौक एडिट की अपनी पुरानी तस्वीरें

इन्दौरी तड़का : हाँ बड़े अब ठंड की चपेट लगातार लगती जाएगी

 

You may be also interested

1