Trending Topics

दूल्हे के पिता ने लौटाया दहेज़, कहा- 'बस बेटी चाहिए'

The groom father refused to take dowry in Rajasthan

दहेज जैसी कुप्रथा आज भी जारी है. लड़केवाले मुंह फाड़कर दहेज़ की मांग करते हैं लेकिन दूसरी तरफ इसके ख़िलाफ समाज और कानून दोनों ही काम कर रहे हैं. आज हम आपको एक ऐसे ही किस्से के बारे में बताने जा रहे हैं. जी दरअसल हम बात कर रहे हैं राजस्थान के बूंदी जिले की. यहाँ के रिटायर्ड प्रिंसिपल बृजमोहन मीणा ने अपने बेटे की शादी में दहेज के रुपये लौटा दिए और सभी के सामने एक मिसाल पेश की. जी दरअसल उन्होंने दहेज में मिले 11 लाख रुपये लौटा दिए और इस दौरान उन्होंने कहा, 'उन्हें सिर्फ़ बेटी चाहिए.' 

सामने आने वाली एक रिपोर्ट को माने तो रिटायर्ड प्रिंसिपल बृजमोहन मीणा की शादी टोंक जिले में हो रही है. यहाँ सगाई के दौरान लड़की के पिता नोटों की गड्डियों से भरी एक थाली लेकर लड़के के पिता सामने आ गए. जी दरअसल थाली में 11 लाख 101 रुपये थे. जैसे ही बृजमोहन मीणा ने यह देखा तो उन्होंने दहेज के रुपये लेने से साफ़ मना कर दिया.

इस दौरान बृजमोहन मीणा ने शगुन के तौर पर 101 रुपये लेकर बाकी पैसा लौटा दिया. बात करते हुए उन्होंने कहा कि, 'उन्हें सिर्फ बेटी चाहिए.' आपको हम यह भी बता दें कि दुल्हन आरती मीणा साइंस ग्रेजुएट है और बीएड कर रही है. इस दौरान लड़के वालों के इस फ़ैसले पर लड़की ने अपनी ख़ुशी ज़ाहिर करते हुए कहा कि 'उन्होंने दहेज लौटा कर समाज के आगे एक मिसाल पेश की है. इससे बेटियों का सम्मान बढ़ेगा.' इसी के साथ लड़की के घर वालों का कहना है कि, 'ये उनके लिए प्रेरणा की बात है. टोंक, बूंदी, सवाई माधोपुर जिले में इस तरह का ये पहला मामला है. इससे समाज में एक सही संदेश जाएगा.'

9 साल के लड़के ने एक घंटे में बना डाली 172 डिश

असल में ऐसा दिखता है Cocoa Pod, आपने देखा क्या?

ये है दुनिया का पहला ट्री हॉस्पिटल, होगा पेड़-पौधे का इलाज

 

You may be also interested

1