Trending Topics

आखिर क्यों पीले रंग की ही होती है JCB

Why JCB machine is yellow in colour

आप सभी ने आज तक कई बार JCB देखी होगी, जिसे लेकर कई तरह के मीम्स भी बन चुके हैं। वैसे JCB पीले रंग की होती है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर JCB पीले रंग की ही क्यों होती है? अगर सोचा है और आप इसका जवाब नहीं जानते तो हम आपको देते हैं इसका जवाब।

आप सभी को बता दें कि JCB एक ब्रिटिश मशीन निर्माण कंपनी है जिसका मुख्यालय स्टैफोर्डशायर, इंग्लैंड में है। जी हाँ और इसकी योजनाएं दुनिया के चार महाद्वीपों में हैं। कहा जाता है जेसीबी दुनिया की पहली अनाम मशीन है जिसे 1945 में लॉन्च किया गया था। इसके निर्माता ने कई दिनों तक इसके नाम के बारे में सोचा, लेकिन एक अच्छा नाम नहीं मिला, इस वजह से इसका नाम जोसेफ सायरिल बमफोर्ड रखा गया। आप सभी को यह सुनकर अचम्भा होगा कि जेसीबी भारत में अपनी फैक्ट्री शुरू करने वाली पहली ब्रिटिश प्राइवेट कंपनी थी।

जी हाँ और आज भारत दुनिया में जेसीबी मशीनों का सबसे बड़ा निर्यातक है। साल 1945 में, जोसेफ सिरिल बमफोर्ड ने पहली मशीन, एक टिपिंग ट्रेलर बनाया और यह उस समय बाजार में 45 पाउंड में बिकता था, जो आज लगभग 4000 रुपये है। कहा जाता है दुनिया का पहला और सबसे तेज ट्रैक्टर ‘फास्ट्रैक’ जेसीबी कंपनी ने साल 1991 में बनाया था। उस दौर में इस ट्रैक्टर की अधिकतम गति 65 किलोमीटर प्रति घंटा थी। वहीँ ट्रैक्टर को ‘प्रिंस ऑफ वेल्स’ पुरस्कार से भी नवाजा गया था। कहा जाता है साल 1948 में जेसीबी कंपनी में सिर्फ 6 कर्मचारी थे, लेकिन आज कंपनी के दुनिया भर में करीब 11 हजार कर्मचारी हैं। आपको हम यह भी बता दें कि जेसीबी मशीनें शुरू में सफेद और लाल रंग में बनाई जाती थीं, लेकिन बाद में पीले रंग में बदल दी गईं। ऐसा इसलिए क्योंकि इस रंग की वजह से खुदाई स्थल पर जेसीबी आसानी से देखी जा सकती है, चाहे वह दिन हो या रात। बस यही वजह रही कि इसका रंग बदल दिया गया।

सेब के बीजों में होता है खतरनाक जहर, लेकिन फिर भी क्यों नहीं होती इंसान की मौत?

आखिर क्यों लगता है सर्दी में किसी को छूने से करेंट

आखिर क्यों ठंड में हमारे मुंह से निकलती है भाप?

 

1