Trending Topics

बैठे-बैठे पैर हिलाना छोड़ दें वरना...

Restless legs syndrome Symptoms and causes

आप सभी ने अक्सर देखा होगा कुछ लोग बैठे-बैठे अपना पैर हिलाते रहते हैं. वैसे शायद आप भी इसी लिस्ट में शामिल होंगे. कई बार जब घर में हम ऐसा करते हैं, तो कोई न कोई बड़ा हमें टोक देता है. उस समय हमे समझ नहीं आता कि आख़िर हमारे पैर हिलाने से दूसरे को क्या तकलीफ़ है? लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं इसके क्या नुकसान है. जी दरअसल पैर हिलाने की आदत (Habit Of Shaking Legs) हमारी किसी शारीरिक तकलीफ़ का कारण हो सकती है. आप सभी को बता दें कि रेस्टलेस सिंड्रोम (Restless Syndrome) नर्वस सिस्टम से जुड़ी एक बीमारी है. 

वहीं 35 साल की उम्र से ज़्यादा के व्यक्तियों में ये कॉमन पाई जाती है. जी हाँ और इस सिंड्रोम के चपेट में आने की कई वजह हो सकती है. इनमे शरीर में आयरन की कमी, ज़्यादा वज़न, कम नींद, न के बराबर फ़िज़िकल एक्टिविटी और नशा करने की आदत शामिल हैं. वहीं इस लिस्ट में पहले नंबर पर नींद की कमी है जो एक बड़ा कारण माना जाता है. इस वजह से इसे स्लीप डिसऑर्डर भी कहते हैं, क्योंकि नींद पूरी नहीं होने की वजह से व्यक्ति को थकाम महसूस होती है. इसके अलावा पैर हिलाने पर शरीर में डोपामाइन हॉर्मोन निकलता है, जिसकी वजह से अच्छा फ़ील होता है. इस वजह से भी लोग अपना पैर बार-बार हिलाते हैं. आप सभी को बता दें, इन बीमारी की वजह से पैरों में झंझनाहट महसूस होती है और पैरों में जलन, खुजली और दर्द की समस्या भी हो सकती है. वहीं अगर आप बहुत ज़्यादा अपना पैर नहीं हिलाते हैं, तो ठीक है.

लेकिन ये आदत आपकी काबू से बाहर हो, परेशानी की बात है. क्योंकि अगर आपकी बॉडी में आयरन की कमी है, तो फिर कई तरह की दिक्कतें हो सकती हैं, जिनमें हार्मोनल बदलाव भी शामिल है. गर्भवती महिलाओं को डिलीवरी की वक़्त इस आदत के चलते दिक्कत आ सकती है. इसी के साथ किडनी और पार्किंसंस से जुड़ी बीमा​री वाले मरीज़ों को ज़्यादा परेशानी हो सकती है. वहीं ब्लडप्रेशर, डायबिटीज़ और दिल के मरीज़ों को ज़्यादा ख़तरा रहता है.

सेब के बीजों में होता है खतरनाक जहर, लेकिन फिर भी क्यों नहीं होती इंसान की मौत?

आखिर क्यों ठंड में हमारे मुंह से निकलती है भाप?

आखिर क्यों 25 दिसंबर को मनाते हैं क्रिसमस

 

You may be also interested

Recent Stories

1