Trending Topics

आखिर क्यों पीले रंग की ही होती है टैक्सी

DO YOU KNOW WHY TAXI ARE ALWAYS YELLOW IN COLOUR

आज के समय में चार पहिया वाहन आपको उनके घर में भी देखने के लिए मिल जाएंगे, जो किराए से रहते हैं. जी हाँ, आजकल बैंकों से मिलने वाली सुविधा के कारण मिडिल क्लास लोग भी कार खरीद लेते हैं. वहीं पर्सनल यूज वाली गाड़ियों के कई कलर आपने देखने होंगे. लेकिन आप सभी ने नोटिस किया होगा टैक्सी हमेशा पीले रंग की ही होती है. जी हाँ जितने भी मेट्रोपॉलिटन शहर हैं, या जहां टैक्सी कल्चर है, वहां की गाड़ियां पीले रंग की होती है. लेकिन क्या आपको पता है इसके पीछे की वजह? अगर नहीं पता तो हम आपको बताते हैं. 

टैक्सी के पीले रंग के होने के पीछे ख़ास वजह है. जी दरअसलकाफी सोच-समझकर टैक्सी के लिए इस रंग का चयन किया गया. अगर गंदा होने की दृष्टि से कलर तय किया जाता तो शायद इसका कलर लाल या काला रखा जाता. जी हाँ क्योंकि ये कलर्स जल्दी गंदे नहीं होते. वहीं पीला रंग हल्का होता है और इसपर गंदगी जल्दी पता चल जाती है. हालाँकि इसके बाद भी टैक्सी का कलर पीला काफी सोच समझकर रखा गया है. आइए बताते हैं आपको इसके बारे में.

जी दरसल पीले रंग से टैक्सी को कलर करने के लिए लैटरल पैरिफेरल विजन का काफी बड़ा रोल है. जी हाँ और इस विजन के जरिये हम ये माप सकते हैं कि कौन सा रंग आंखों को ज्यादा आकर्षित करता है. लाल रंग की तुलना में पीले रंग का लैटरल पैरिफेरल विजन 1.24 गुना ज्यादा है. इसका मतलब है ये रंग अन्य रंगों के मुकाबले इतना ज्यादा आखों को आकर्षित करता है. जी हाँ और इसी वजह से ना सिर्फ टैक्सी बल्कि बच्चों के स्कूल वाहनों का रंग भी पीला रखा जाता है. हालांकि, जबसे ओला और ऊबर आया है, तब से अन्य रंग के कैब दिखने लगे हैं. लेकिन इसके बाद भी उनके महत्वपूर्ण भागों को पीले रंग से ही पेंट किया जाता है.

क्या है लॉजिक जो पंख होने के बाद भी ज्यादा उड़ नहीं पाता कॉकरोच

आखिर क्यों? सुबह कोई गाना सुनने के बाद दिनभर हम उसे ही गुनगुनाते रहते हैं

 

You may be also interested

Recent Stories

1