Trending Topics

यहाँ छुपा हुआ है पारस पत्थर, ढूंढ लिया तो खुल जाएगी आपकीस किस्मत

Miraculous Paras Patthar In Raisen Fort Bhopal

वैसे तो दुनिया में कई चीज़ें हैं जो बहुत अजीब हैं. ऐसे में दुनिया में आज भी कई ऐसी चमत्कारी चीजें मौजूद हैं, जो आपको रातों रात अमीर बना सकती हैं. ऐसे में आज हम आपको एक ऐसी ही चीज के बारे में बताने जा रहे हैं. जी हाँ, दरअसल हम बात कर रहे हैं पारस पत्थर की, जिसके एक जगह पाने की बात हम आपको बताने जा रहे हैं. जी दरअसल यह एक चमत्कारी पत्थर है और इसके बारे में आपने कई कहानियां सुनी होंगी, लेकिन आज तक इस पत्थर को कोई नहीं ढूंढ़ पाया है. 

जी हाँ, वहीं हाल ही में इसके एक किले में होने का दावा किया जा रहा है. खबरों के मुताबिक़ इसी कारण से हर साल किले में लोग खुदाई करने पहुंच जाते हैं. आप सभी को बता दें कि पारस पत्थर के बारे में कहा जाता है कि ये वो पत्थर है जिसे छूते ही लोहा भी सोना बन जाता है. ऐसी मान्यता है कि भोपाल से 50 किलोमीटर दूर रायसेन के किले में यह पत्थर मौजूद है. कहते हैं कि इस किले के राजा के पास पारस पत्थर मौजूद था. वहीं इस पत्थर के लिए कई बार युद्ध हुए, लेकिन जब इस किले के राजा को लगा कि वह युद्ध हार जाएंगे तो उन्होंने पारस पत्थर को किले में मौजूद तालाब के अंदर फेंक दिया. इसके बाद राजा ने ये किसी को नहीं बताया कि पारस पत्थर को कहां छुपाया है और बाद में युद्ध के दौरान उनकी मृत्यु हो गई और देखते ही देखते ये किला भी वीरान हो गया. 

वहीं उसके बाद कई राजाओं ने किले को खुदवाकर पारस पत्थर को खोजने की कोशिश की, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली. कहा जाता है आज भी रात के समय पारस पत्थर की तलाश में तांत्रिकों को अपने साथ लेकर जाते हैं, लेकिन उन्हें निराशा ही हाथ लगती है. खबरें हैं कि इस किले और पारस पत्थर को लेकर ये कहानी भी प्रचलित है कि यहां पत्थर को ढूंढ़ने आने वाले कई लोग अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं, क्योंकि पारस पत्थर की रक्षा एक जिन्न करता है. आप सभी को बता दें कि पुरातत्व विभाग को अब तक ऐसा कोई भी सबूत नहीं मिला है, जिससे पता चले कि पारस पत्थर इसी किले में मौजूद है.

इस वजह से नहीं बजाना चाहिए सिटी, जानिए लॉजिक

इस मंदिर में होती है व्हेल मछली की पूजा

900 साल पुराना है यह मंदिर, होती है गोबर गणेश की पूजा

 

You may be also interested

Recent Stories

1